September 28, 2021

संस्मरण

हस्तशिल्प के लिए प्रसिद्ध रही है मैनपुरी राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री एक समय था, जब मैनपुरी के मिट्टी के खिलौने बहुत मशहूर थे। गणेश-लक्ष्मी, गुजरिया, सेठ-सेठानी, गरदन तथा कमर हिलाने वाली गुड़िया, पशु-पक्षी आदि भांति-भांति खिलौने। खिलौने पॉलिश करने के लिए उस समय के कुम्हार किसी विशेष तकनीक का प्रयोग करते थे, जिसकी सहायता से खिलौने जल-रोधक हो जाते थे। वे एक खास खिलौना भी बनाते थे, जिसे ‘मुतना हाथी’ कहा  जाता था। उसमें साइफन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता था। एक परात में पानी भर कर परात के बाहर हाथी खडा कर दिया जाता था और उसकी सूंड़ परात के पानी में डु बो दी जाती थी। फिर कुछ ही...

मैनपुरी की होली राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री मैनपुरी की होली के जिक्र के बिना तो सभी कुछ अधूरा रह जाएगा। सौहार्द्र और धैर्य के संगम का ऐसा दुर्लभ  उदाहरण ढूंढने पर भी कहीं नहीं मिलेगा। लड़के मनमानी शरारत...

निराली साहित्यिक नगरी मैनपुरी -राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री छोटा सा मैनपुरी नगर, शांति, आत्म-तुष्ट, कहीं कोई हड़बड़ी नहीं। आबादी बीस-पच्चीस हजार से अधिक नहीं थी। सब एक दूसरे के परिचित। सारी जगह पैदल दूरी पर थी। सबसे अधिक दूरी पर चार स्थान बजरिया से लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर थे - रेलवे-स्टेशन, दीवानी कचहरी, कलक्ट्री कचहरी और शीतला देवी मंदिर।  दिलचस्प बात यह थी कि इन स्थानों की परस्पर दूरी भी इतनी ही यानी तीन किलोमीटर के आस-पास थी। माना जा सकता है कि ये स्थान पूरब और उत्तर दिशाओं...

मितभाषी दीपक -राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री बड़ी पुत्री पूनम का जन्म मिरजापुर जिले की दुद्धी तहसील के, जहां रिहंद बांध का निर्माण हो रहा था, ग्राम पिपरी में हुआ था (अब जिला...

मान की लोकप्रियता की पराकाष्ठा -राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री बढ़ती अवस्था के कारण बाबू-अम्मा दिऩों-दिन शिथिल होते जा रहे थे, लेकिन किेसी भी कीमत पर मैनपुरी...

समारोहों का सिरदर्द आपका नहीं, पड़ोसियों का -राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री मैनपुरी की संस्कृति में बहुत कुछ ऐसा है, जो अन्य जगह़ों पर आम तौर से नहीं मिलता, उदाहरण के लिए,...

राजपरिवार से जुड़ाव मैनपुरी मेरी ननिहाल है। नाना स्वर्गीय् भजनलाल मिश्र मैनपुरी राज्य के पुरोहित थे। स्वाभाविक है कि मेरी मां का जुड़ाव राजपरिवार से था और...

मैनपुरी का श्मशान  घाट                                             -राजेंद्रनाथ अग्निहोत्री चौबेजी और सब्जी विक्रेता के बीच मोलभाव के लिए होने वाली तकरार कम रोचक...