September 28, 2021

कोरोना वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर मोदी की तसवीर

चुनाव आयोग ने दिया हटाने का आदेश

टीएमसी ने की थी शिकायत

तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने चुनाव आयोग में शिकायत की थी कि वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी की तसवीर का होना आचार संहिता का उल्लंघन है, अत: इन प्रमाण-पत्रों से पीएम मोदी की तसवीर हटा दी जाए। इस शिकायत पर काररवाई करते हुए चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय को आदेश दिया है कि वह चुनावी नियमों का पालन करते हुए वैक्सीन सर्टिफिकेट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तसवीर हटा दे, क्योंकि ये तस्वीरें आचार संहिता का उल्लंघन करती हैं। इन्हें अनुचित प्रचार के रूप में गिना जा सकता है।

यद्यपि चुनाव आयोग का आदेश पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, असम और पुडुचेरी के लिए है, जहां 26 फरवरी को आगामी मार्च-अप्रैल में विधानसभा चुनावों के मतदान कार्यक्रम की घोषणा की जा चुकी है, किंतु विचारणीय बात यह भी है कि सरकारी प्रमाण-पत्रों और अन्य प्रपत्रों पर किसी भी व्यक्ति विशेष की तसवीर क्यों लगानी चाहिए? क्या यह व्यक्ति विशेष और उससे संबद्ध दल, विचारधारा आदि का सीधा प्रचार नहीं है? वैसे चुनाव आयोग ने भी दबे स्वर में ऐसी ही एक टिप्पणी की है कि प्रमाणपत्रों के जरिए पीएम “अपने पद और शक्तियों का फायदा उठा रहे थे।”